इंदौर में मंदिर की बावड़ी की छत धसने से 12 की मौत, 19 को बचाया गया

0
124
Photo: ANI/Twitter

इंदौर: रामनवमी के मौके पर इंदौर में एक बड़ा हादसा हो गया। यहां मंदिर की बागड़ी की छत धसने से 20 से ज्यादा लोग नीचे गिर गए। इस हादसे में अब तक 12 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 19 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। तलाशी अभियान अभी जारी है।

मिली जानकारी के अनुसार बिलेश्वर महादेव मंदिर में रामनवमी के मौके पर बड़ी संख्या में लोग बावड़ी की छत पर बैठकर हवन पूजन आदि कर रहे थे। अचानक बावड़ी की छत धस गई और उसमें लोग नीचे गिर गए।

हादसे की जानकारी मिलते ही प्रशासनिक अमला और राहत बचाव दल मौके पर पहुंचा जो लोग बावड़ी में गिरे हैं उन्हें रस्सियों की मदद से बाहर निकालने का प्रयास जारी है। जिन लोगों को बाहर निकाला गया है उनमें कई को चोटें आई हैं।

इंदौर के कलेक्टर इलैयाराजा टी ने बताया है कि इस हादसे में अब तक 12 लोगों की मौत हुई है, 19 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है। राहत और बचाव दल अभी अपने अभियान में लगा हुआ है। इसके बाद बावड़ी के पानी को पूरी तरह खाली करा लिया जाएगा और नीचे के मलबे की भी तलाशी होगी। राहत और बचाव कार्य अब भी जारी है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर में पुरानी निजी बावड़ी के धंस जाने से व्यक्तियों की असामयिक मृत्यु पर गहरा दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि है यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। अनेक प्रयासों के बाद नागरिकों को बचाया नहीं जा सका। घटना की जांच के निर्देश दिए गए हैं। सरकार पीड़ित परिवारों के साथ खड़ी है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि घटना में दिवंगत लोगों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपए की राहत राशि प्रदान की जाएगी। घायलों के नि: शुल्क उपचार के साथ 50 हजार प्रति घायल को राशि प्रदान की जाएगी।

—आईएएनएस