दिल्ली: होली और शब-ए-बारात के दिन यातायात नियम तोड़ने वालों के खिलाफ 8,550 चालान

0
149
फोटो: ट्विटर

नयी दिल्ली: दिल्ली यातायात पुलिस ने इस साल शब-ए-बारात और होली पर नियम तोड़ने वालों के खिलाफ 8,550 से अधिक चालान काटा। आधिकारिक आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है।

आंकड़ों के मुताबिक कई दुपहिया वाहन चालकों का चालान हेलमेट नहीं पहने होने की वजह से काटे गए जबकि कुछ पर शराब पीकर वाहन चलाने के लिए जुर्माना लगाया गया।

उत्सव से पहले दिल्ली पुलिस ने अपने अधिकारियों को निर्देश दिया था कि वे शब-ए-बारात और होलिका दहन के दिन बाइक से ‘स्टंट’ करने वालों के खिलाफ सख्ती बरतें। गत सालों में इन उत्सवों के दौरान कई युवाओं के इंडिया गेट, कनॉट प्लेस और अन्य इलाकों में आकर मोटरसाइकिल और यहां तक तीन पहिया और चार पहिया वाहनों से खतरनाक ‘स्टंट’ (खतरनाक करतब) करने के मामले सामने आए थे।

यातायात पुलिस ने दावा किया कि अहम स्थानों पर पुलिस कर्मियों की तैनाती और कानून का सख्ती से अनुपालन कराने की वजह से इस साल होली पर जानलेवा दुर्घटनाओं की संख्या कम रही। उन्होंने बताया कि पिछले साल नौ मामलों के मुकाबले इस साल केवल पांच जानलेवा हादसे दर्ज किए गए।

पुलिस ने बृहस्पतिवार को बताया कि 759 यातायात पुलिस अधिकारियों की विशेष टीम पूरे शहर में शराब पीकर वाहन चलाने, तेज गति से वाहन चलाने, लापरवाही से वाहन चलाने की घटनाओं को रोकने के लिए तैनात की गई थी।

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक शब-ए-बारात के दिन यातायात पुलिस ने कुल 908 चालान काटे जिनमें से 70 शराब पीकर वाहन चलाने, 109 दुपहिया पर तीन लोगों के सवार होने, 438 चालान बिना हेलमेट दुपहिया वाहन चलाने, 42 चालान रंगीन शीशे होने और 227 चालान अन्य उल्लंघनों के मामले में काटे गए।

आंकड़ों के मुताबिक होली को कुल 7,643 चालान काटे गए जिनमें शराब पीकर वाहन चलाने के मामले में 559 चालान, दुपहिया वाहन पर तीन लोगों की सवारी के मामले में 698 चालान, बिना हेलमेट दुपहिया वाहन चलाने के मामले में 3,410 चालान, बिना सीट बेल्ट पहने वाहन चलाने के मामले में 312 चालान, वाहन का शीशा रंगने के मामले में 215 चालान और अन्य यातायात नियमों का उल्लंघन करने के मामले में 2,449 चालान काटे गए।

(इनपुट पीटीआई-भाषा)