हर धर्म इंसानियत का पाठ पढ़ाता हैः गुलाम नबी आजाद

0
169

उधमपुर (जम्मू और कश्मीर): जम्मू और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने मंगलवार को देश की धार्मिक और सांस्कृतिक विविधता के बारे में बात की, जिसमें मिल-जुलकर रहना, उत्सव की खुशियां फैलाना और सौहार्द का संदेश देना शामिल है. कार्यक्रम में विभिन्न धार्मिक विश्वासों का पालन करने वाले लोग सम्मिलित हुए.

आवाज़ द वायस की खबर के अनुसार, आजाद उधमपुर जिले के क्रिश्चियन कॉलोनी ग्राउंड में सम्मानित अतिथि थे. उन्होंने क्रिसमस के उपलक्ष्य में केक काटा. कार्यक्रम में बड़ी संख्या में सभी वर्गों के लोगों ने भाग लिया.

इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, आजाद ने कहा, ‘हम विभिन्न जातियों और धर्मों से संबंधित हैं, लेकिन एक बगीचे में असंख्य रंगों के फूलों के रूप में एकजुट हैं. हम जिस धर्म का पालन करते हैं, उसके संदर्भ में हम अलग हैं और अंत में हम सभी को भारत के नागरिक होने पर गर्व है.’

उन्होंने कहा कि कुछ लोग लोगों के बीच नफरत और भेदभाव फैलाने की कोशिश करते हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं दीवाली, क्रिसमस, ईद, गुरु नानक देव जी जयंती और अन्य जैसे हर त्योहार को मनाता हूं, क्योंकि हर धर्म हमें मानवता का पाठ पढ़ाता है. स्वर्ण मंदिर की आधारशिला मुसलमानों ने रखी थी.’

उन्होंने कहा कि भारत दुनिया को एकता का संदेश देता है. उन्होंने कहा, ‘हम हर धर्म का सम्मान करते हैं और यही हमारी ताकत है. हम सांप्रदायिक सद्भाव, एकता और भाईचारे की प्रार्थना करते हैं. भारत में विभिन्न धर्मों के लोग एक साथ रहते हैं, दुनिया को एकता का संदेश देते हैं.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here