मशहूर अभिनेता एवं फिल्मकार सतीश कौशिक का निधन

0
138
फोटो: ट्विटर

मुंबई: फिल्म ‘‘जाने भी दो यारो’’ और ‘‘मि. इंडिया’’ में यादगार हास्य भूमिकाएं निभाने वाले मशहूर अभिनेता एवं फिल्मकार सतीश कौशिक का बृहस्पतिवार को तड़के दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 66 वर्ष के थे।

उनके करीबी दोस्त एवं अभिनेता अनुपम खेर ने बताया कि कौशिक दिल्ली में अपने एक दोस्त के घर पर थे, जब उन्होंने बेचैनी होने की शिकायत की।

खेर ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘बेचैनी महसूस होने के बाद कौशिक ने चालक से उन्हें अस्पताल ले जाने को कहा। देर रात करीब एक बजे उन्हें (अस्पताल जाते समय) रास्ते में ही दिल का दौरा पड़ा।’’

इससे पहले खेर ने ट्विटर पर कौशिक के निधन की खबर साझा की थी।

उन्होंने ट्वीट किया था, ‘‘मुझे पता है कि मृत्यु अंतिम सत्य है, लेकिन मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मुझे अपने सबसे अच्छे दोस्त सतीश कौशिक के बारे में ऐसा लिखना होगा। 45 साल की दोस्ती पर अचानक पूर्ण विराम लग गया। तुम्हारे बिना जीवन पहले जैसा नहीं रहेगा सतीश। ओम शांति।’’

हरियाणा में जन्मे और दिल्ली के करोल बाग में पले-बढ़े कौशिक ने हमेशा अभिनेता बनने का सपना देखा था। कौशिक नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) और फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एफटीआईआई) के छात्र थे। उन्हें ‘जाने भी दो यारों’, ‘राम-लखन’, ‘बड़े मियां छोटे मियां’, ‘मिस्टर इंडिया’, ‘दीवाना मस्ताना’, ‘हसीना मान जाएगी’, ‘भारत’, ‘छलांग’, ‘उड़ता पंजाब’ जैसी फिल्मों में निभाए उनके किरदारों के लिए काफी सराहना मिली।

‘मि. इंडिया’ फिल्म में कौशिक ने कैलेंडर नामक एक रसोइये का किरदार निभाया था जो अनिल कपूर द्वारा संचालित एक अनाथालय में बच्चों के लिए खाना पकाता है।

कौशिक ने 1983 में आई फिल्म ‘जाने भी दो यारो’ के संवाद लिखे और पंकज त्रिपाठी अभिनीत ‘कागज़’ (2021) की कहानी भी लिखी।

कौशिक और अभिनेता गोविंदा की जोड़ी भी काफी मशहूर थी। दोनों 90 के दशक में ‘स्वर्ग’, ‘साजन चले ससुराल’, ‘दीवाना मस्ताना’, ‘परदेसी बाबू’, ‘बड़े मियां छोटे मियां’, ‘आंटी नंबर-1’ और ‘हसीना मान जाएगी’ जैसी कई फिल्मों में साथ नजर आए।

हास्य अभिनेता के तौर पर खासी लोकप्रियता हासिल करने वाले कौशिक फिल्म निर्देशक भी थे। उन्होंने ‘रूप की रानी चोरों का राजा’ से निर्देशन की दुनिया में कदम रखा। कौशिक ने ‘हम आपके दिल में रहते हैं’ ‘हमारा दिल आपके पास है’, ‘बधाई हो बधाई’, ‘तेरे नाम’ और ‘मुझे कुछ कहना है’ जैसी कई फिल्मों का निर्देशन किया।

कौशिक ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर किए गए आखिरी पोस्ट में प्रसिद्ध गीतकार एवं लेखक जावेद अख्तर द्वारा सात मार्च को मुंबई में आयोजित वार्षिक होली समारोह की तस्वीरें साझा की थीं।

हंसल मेहता, सोनी राजदान, मनोज बाजपेयी, कंगना रनौत सहित फिल्म जगत की कई हस्तियों ने बृहस्पतिवार को शोक जताते हुए उन्हें एक ‘‘दयालु इंसान’’ और ‘‘दिव्य आत्मा’’ बताया।

फिल्म निर्माता हंसल मेहता ने कौशिक को एक ऐसा अभिनेता बताया जो हर बार कोई नया किरदार निभाने को आतुर रहते थे।

मेहता ने सोशल मीडिया मंच इंस्टाग्राम पर लिखा, ‘‘सतीश जी बहुत जल्दी चले गए। समझ नहीं आ रहा कि कैसे कहूं कि आपकी बहुत याद आएगी। बेहतर किरदार निभाने की आपकी ललक, कहानियों को लेकर आपका जुनून और जीवन के लिए आपका प्यार अविस्मरणीय है। हमारी आने वाली फिल्म ‘एक डायरेक्टर की मौत’ अब नहीं बनेगी। ओम शांति।’’

अभिनेता-निर्देशक सोनी राजदान ने कहा कि उन्हें विश्वास नहीं हो पा रहा कि फिल्म ‘मंडी’ के उनके सह-कलाकार कौशिक का निधन हो गया है।

अभिनेता मनोज बाजपेयी ने कहा कि कौशिक का निधन फिल्म जगत के लिए अपूरणीय क्षति है।

कंगना ने ट्वीट किया, ‘‘इस दुखद खबर के साथ सुबह की शुरुआत हुई। वह मेरी काफी हौसला-अफजाई करते थे… एक बहुत ही सफल अभिनेता और निर्देशक। सतीश कौशिक जी बेहद दयालु और सच्चे इंसान थे। ‘इमरजेंसी’ में उनके साथ काम करके काफी अच्छा लगा। उनकी कमी हमेशा खलेगी, ओम शांति।’’

‘किसी का भाई किसी की जान’ और ‘इमरजेंसी’ उनकी आने वाली फिल्मों में शामिल है। वह ओटीटी (ओवर द टॉप) मंच ‘डिज़्नी प्लस हॉटस्टार’ की वेब सीरीज ‘पॉपकौन’ में भी नजर आएंगे।

कौशिक के परिवार में पत्नी और बेटी है।

(इनपुट पीटीआई-भाषा)