मोदी पीएम नहीं होंगे उस दिन देश भ्रष्टाचार मुक्त हो जाएगा: केजरीवाल

0
144

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने केंद्रीय जांच एजेंसियों के दुरुपयोग का मुद्दा उठाते हुए कहा कि जिस दिन नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं होंगे उस दिन भारत भ्रष्टाचार मुक्त हो जाएगा।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को दिल्ली विधानसभा में कहा, ईडी और सीबीआई ने देश के सभी भ्रष्ट लोगों को एक पार्टी में ला दिया है। ईडी-सीबीआई ने छापा मारकर उनके सिर पर बंदूक रख दी और उनसे पूछा कि वे जेल जाना चाहते हैं या भाजपा में?

दिल्ली विधानसभा में उनके द्वारा पेश किए गए विश्वास प्रस्ताव पर बोलते हुए केजरीवाल कहा, समय एक जैसा नहीं रहता है, समय बदलता है। आज उनकी सरकार है। आज मोदी जी प्रधानमंत्री हैं। हमेशा तो नहीं रहेंगे। कभी न कभी तो जाएंगे ही। उस टाइम भारत भ्रष्टाचार मुक्त होगा। कैसे?

उन्होंने कहा, जितने चोर उचक्के हैं, सारे एक ही कमरे (पार्टी)में हैं। उनको पकड़ने में बड़ी आसानी होगी। सारे लोगों को ईडी-सीबीआई दिखाकर सारे देश के लुटेरों को इन्होंने अपनी पार्टी में इकट्ठा कर लिया। जिस दिन इनकी सरकार जाएगी और मोदी जी प्रधानमंत्री नहीं होंगे, बीजेपी वालों को जेल में डाल दो, देश भ्रष्टाचार मुक्त हो जाएगा।

दिल्ली विधानसभा में अपने भाषण के दौरान केजरीवाल ने दावा किया कि उनके विधायकों को सीबीआई और ईडी के छापे मारने की धमकी दी गई और रिश्वत के रूप में 25 करोड़ रुपये की पेशकश की गई लेकिन कोई उन्हें तोड़ नहीं सका।

उन्होंने कहा, आप में से हर एक रत्न है। डरो मत। भले ही तुम जेल जाओ, मैं तुम्हारे परिवार का ख्याल रखूंगा। दिल्ली विधानसभा के अंदर हुई घटनाओं ने आज लोकतंत्र के लिए एक सकारात्मक संदेश दिया है।

केजरीवाल ने आरोप लगाया कि भाजपा शासित केंद्र विपक्षी दालों की सत्तारूढ़ सरकारों को काम नहीं करने देता। हम लोकतंत्र में विश्वास करते हैं, इसलिए हमने बीजेपी विधायकों को बोलने की पेशकश की, हालांकि वे हमारी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव नहीं ला सके। हमने उन्हें बोलने दिया। हम आलोचना का स्वागत करते हैं। लेकिन ये लोग केवल लड़ना और गाली देना जानते हैं।

उन्होंने बीजेपी पर तंज करते हुए कहा कि 2025 के विधानसभा चुनाव क्या बीजेपी 2050 में भी दिल्ली में नहीं जीत सकती।

केजरीवाल ने विधानसभा सत्र के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि भाजपा ने घोषणा की थी कि वह अविश्वास प्रस्ताव पेश करेगी। लेकिन इस तरह के प्रस्ताव को पेश करने के लिए आपको कम से कम 20 प्रतिशत विधायकों के हस्ताक्षर की आवश्यकता होती है।

उन्होंने दावा करते हुए कहा कि ऐसा करने के लिए, उन्होंने हमारे विधायकों को धमकी दी, लेकिन उनमें से कोई भी नहीं टूटा। आप विधायकों को डर और धमकी से नहीं तोड़ा जा सकता है।

उन्होंने कहा, हमने विश्वास प्रस्ताव भारी बहुमत से जीता है। लोगों का हम पर जबरदस्त विश्वास है। हम जनता के लिए काम कर रहे हैं, जो पिछले 75 सालों में नहीं किया गया। मैं विश्वास दिखाने के लिए जनता को धन्यवाद देता हूं।

—आईएएनएस