महाराष्ट्र: जय श्री राम का नारा नहीं लगाने पर अज्ञात लोगों ने इमाम को पीटा, मस्जिद में घुसकर काटी दाढ़ी

0
231

नई दिल्ली: भारत में नफ़रत की आग इस क़दर भड़क चुकी है कि मुसलमानों के ख़िलाफ़ खुलेआम हिंसा की वारदात को अंजाम दिया जा रहा है, जबरन धार्मिक नारे लगाने के लिए मजबूर किया जाता है.

महाराष्ट्र में कुछ अज्ञात लोगों ने एक मस्जिद में घुसकर इमाम साहब को जय श्री राम का नारा लगाने के लिए मजबूर किया तथा नारा नहीं लगाने पर बेरहमी से पीटा.

जर्नो मिरर की खबर के अनुसार, घटना जालना ज़िले के अनवा गांव स्थित मस्जिद की है, बीते रविवार को शाम करीब 7.30 बजे इमाम साहब मस्जिद के अंदर बैठकर क़ुरआन पढ़ रहे थे. इसी दौरान कुछ अज्ञात लोगों ने अपने चेहरे पर कपड़ा बांधकर मस्जिद में प्रवेश किया और इमाम साहब को ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने के लिए मजबूर किया.

जब इमाम साहब ने नारा लगाने से मना किया तो उन लोगों ने पीटना शुरू कर दिया तथा कुछ कैमिकल सूंघा कर बेहोश भी कर दिया, जब उनको होश आया तो दाढ़ी भी कटी हुई थी.

रात को जब लोग ईशा की नमाज पढ़ने के लिए मस्जिद पहुंचे तो उन्होंने मस्जिद के बाहर इमाम साहब को बेहोशी की हालत में पड़ा देखा. जल्दबाजी में उनको बेहोशी की हालत में सिल्लोड के एक सरकारी अस्पताल में ले जाया गया. बाद में औरंगाबाद के सरकारी मेडिकल कॉलेज में स्थानांतरित कर दिया गया जहां उनका इलाज चल रहा है.

घटना की सूचना मिलने पर पुलिस ने अनवा गांव पहुंच कर मामले की जांच शुरू की तथा अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 452, 323, 34 के तहत मामला दर्ज किया है.

इस मामले पर सपा विधायक अबू आसिम आजमी का कहना है कि, मैं उप.मुख्यमंत्री श्री देवेंद्र फडणवीस से मांग करता हूं कि जालना के भोकरदन अनवा गांव मस्जिद में घुसकर एक मौलाना की दाढ़ी काटने एवं मारपीट करने वाले व साम्प्रदायिक तनाव फ़ैलाने वाले उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए.

प्रोफेसर नूरूल के मुताबिक़, महाराष्ट्र के जालना में हिंदुत्व के गुंडों ने मस्जिद के इमाम को जबरदस्ती मस्जिद में घुसकर उनकी दाढ़ी नोच कर पीटा और जय श्री राम का नारा लगाने को मजबूर किया.