राष्ट्रीय अल्पसंख्यक विकास एवं वित्त निगम द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2023 के अवसर पर संगोष्ठी

0
420

लक्ष्मी नगर/दिल्ली: अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस समारोह 2023 के उपलक्ष में, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक विकास एवं वित्त निगम (एनएमडीएफसी) द्वारा “माइक्रोफाइनेंस योजनाओ में कन्वर्जेन्स के माध्यम से अल्पसंख्यक महिलाओं का सशक्तिकरण” पर एक संगोष्ठी का आयोजन 9 मार्च, 2023 को स्कोप मीनार, लक्ष्मी नगर, दिल्ली में किया गया।

इस संगोष्ठी की अध्यक्षता श्री मुखमीत सिंह भाटिया, आईएएस, सचिव, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा की गई। डॉ. राकेश सरवाल, आईएएस, सीएमडी, एनएमडीएफसी ने मुख्य भाषण में प्रतिभागियों से तीन चुनौतियों पर विचार-विमर्श करने का आह्वान किया, जैसे कि संख्यात्मक के साथ-साथ भौगोलिक कवरेज को बढ़ाने के तरीके, प्रशिक्षण और विपणन सुविधाओं के माध्यम से ऋण की गुणवत्ता में सुधार तथा स्वास्थ्य और शैक्षिक सेवाओं के साथ माइक्रोफाइनेंस के कन्वर्जन्स की आवश्यकता।

कार्येक्रम में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के विशेषज्ञ, माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशंस नेटवर्क, स्मॉल फार्मर्स एग्री-बिजनेस कंसोर्टियम, एसबीआई, केनरा बैंक और ईएसएएफ स्मॉल बैंक के बैंकर, जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय की शिक्षाविद और सहुलत माइक्रो फाइनेंस सोसाइटी तथा चेतनाल्या, दिल्ली, स्व-नियोजित महिला संघ (सेवा), अहमदाबाद जैसे गैर सरकारी संगठनों के विशेषज्ञ और एनएमडीएफसी की स्टेट चैनलाइजिंग पार्टनर्स के अधिकारी जैसे केरल राज्य महिला विकास निगम, पश्चिम बंगाल अल्पसंख्यक वित्त एवं विकास निगम, जम्मू और कश्मीर महिला विकास निगम और राष्ट्रीय वक्फ विकास निगम लिमिटेड, एनएमडीएफसी, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय, भारत सरकार के अधिकारियों ने संगोष्ठी में भाग लिया।

माइक्रो क्रेडिट सहायता की कवरेज और गुणवत्ता, सेवा वितरण में चुनौतियां, जागरूकता की कमी से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई।

संगोष्ठी की प्रमुख सिफारिशों में मूल्य वर्धित और हाई-टेक उत्पादों और सेवाओं में स्वयं सहायता समूह को शामिल करनेवाले ट्रेडों को शुरू करने, ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के माध्यम से स्वयं सहायता समूह के उत्पादों को प्रसारित करने, नवीन वित्त पोषण तंत्र और माइक्रो क्रेडिट योजना के लाभार्थियों के बीच वित्तीय साक्षरता को शामिल करने के सुझाव शामिल थे।