वेस्ट बैंक झड़पों में 216 फिलिस्तीनी घायल

0
119
वेस्ट बैंक झड़पों में 216 फिलिस्तीनी घायल
वेस्ट बैंक झड़पों में 216 फिलिस्तीनी घायल

रामल्लाह: वेस्ट बैंक शहर नब्लस के दक्षिण-पूर्व में इजरायली सैनिकों के साथ संघर्ष के दौरान कम से कम 216 फिलिस्तीनी घायल हो गए।

फिलिस्तीनी रेड क्रीसेंट सोसाइटी ने एक बयान में कहा कि बेता गांव में सोमवार को प्रदर्शनकारियों और इजरायली सैनिकों के बीच भीषण संघर्ष हुआ।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, इसमें कहा गया है कि 22 लोगों को रबड़ की गोलियां मारी गईं, जबकि इजरायली सैनिकों ने दर्जनों आंसू गैस के गोले छोड़े।

सात इजरायली मंत्रियों, 20 सांसदों और 17,000 से अधिक इजरायली निवासियों ने अवतार की चौकी (उत्तरी वेस्ट बैंक में एक अप्रतिबंधित चौकी) के पास एक मार्च का आयोजन किया जिसके बाद झड़पें हुईं।

फिलिस्तीनी चश्मदीदों ने शिन्हुआ को बताया कि हजारों इजरायली निवासियों ने नब्लस के पास अवतार की चौकी की ओर एक उत्तेजक मार्च का आयोजन किया।

उन्होंने कहा कि फिलिस्तीनी प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान झंडे लहराए, इजरायल के खिलाफ नारे लगाए, टायर जलाए और इजरायली सैनिकों पर पत्थर फेंके। सैनिकों ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसूगैस और रबर की गोलियां चलाईं।

मार्च की निंदा करते हुए, फिलिस्तीनी राष्ट्रपति पद के प्रवक्ता अबू रुदीनेह ने इजरायल सरकार को फिलिस्तीनियों पर हमलों के लिए जिम्मेदार ठहराया और इसे रोकने के लिए तत्काल और तेजी से हस्तक्षेप करने का आह्वान किया।

इजरायल के राष्ट्रीय सुरक्षा मंत्री इतामार बेन-ग्विर, जो एक आबादकार और अति-दक्षिणपंथी यहूदी पावर पार्टी के नेता भी हैं, उन्होंने कहा कि मार्च का उद्देश्य यह कहना था कि इजराइल राष्ट्र मजबूत है और यह कि हम यहां हैं और यहीं रहेंगे।

बढ़ते हिंसा के बीच मार्च हुआ, जो पिछले हफ्ते अल-अक्सा मस्जिद परिसर में फिलिस्तीनी लोगों और इजरायली पुलिस के बीच संघर्ष से छिड़ गया था।

वेस्ट बैंक में दर्जनों बस्तियों में 600,000 से अधिक इजरायली निवासी रहते हैं, जो 1967 में इजरायल द्वारा वेस्ट बैंक और पूर्वी यरुशलम पर कब्जा करने के बाद स्थापित किए गए थे।

—आईएएनएस