जुनैद और नासिर के परिवार से मिले सीएम गहलोत, 5-5 लाख की मदद देने, मामले को जल्द सुलझाने की बात कही

0
157

नई दिल्ली: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भिवानी हत्या मामले में बृहस्पतिवार को पीड़ित परिवारों से मुलाकात की और उन्होंने मामला जल्द सुलझाने का भरोसा दिया है. इसके साथ सीएम ने पीड़ित परिवारों को 5 लाख की मदद देने, जिसमें 1 लाख नकद और 4 लाख रुपये की एफडी करने की बात कही.

पीड़ित परिवारों से मिलने के बाद गहलोत ने मीडिया से कहा, ‘सरकार दोनों युवकों की पत्नियों तथा बच्चों को पांच-पांच लाख रुपए की आर्थिक मदद देगी. इसमें से एक-एक लाख रुपये की राशि नकद दी जाएगी जबकि चार-चार लाख रुपये की राशि की एफडी करवाई जाएगी ताकि उन्हें उनकी शिक्षा और विवाह आदि में कोई दिक्कत न आए.’

उन्होंने कहा कि सरकार पीड़ित परिवारों का पूरा ध्यान रखेगी.

गहलोत ने कहा- हृदयविदारक घटना

दिप्रिंट की खबर के अनुसार, गहलोत ने घाटमीका गांव में हेलीपैड के पास की गई अस्थायी व्यवस्था में जुनैद और नासिर के परिजनों से मुलाकात की. उनके साथ पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह, शिक्षा राज्य मंत्री और स्थानीय विधायक जाहिदा खान, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, मुख्य सचिव उषा शर्मा और पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा भी थे.

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘घटना इतनी ह्रदय विदारक है, जिसे शब्दों में व्यक्त नहीं किया जा सकता. बड़ी घटना है और उसी रूप सरकार ने इसे लिया है. मैंने खुद हरियाणा के मुख्यमंत्री से बात की जिन्होंने इस घटना में शामिल लोगों को गिरफ्तार करवाने में मदद का आश्वासन दिया. इतने दिन बाद भी वह लोग पकड़े नहीं जा रहे हैं. इसलिए मैं इस मौके पर हरियाणा के मुख्यमंत्री से अपील करना चाहूंगा कि वे इस घटना को और गंभीरता से लें क्योंकि पूरे देश में इसकी चर्चा है.’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘ऐसी करतूत करने वाले लोगों को फांसी से कम सजा होनी ही नहीं चाहिए. राजस्थान पुलिस इस मामले को आफिसर केस स्कीम के तहत लेगी.’ उन्होंने कहा कि सरकार आने वाले समय में भी कोई कमी नहीं रखेगी और आरोपियों को गिरफ्तार करके रहेंगे.

उल्लेखनीय है कि राजस्थान के भरतपुर जिले में पहाड़ी तहसील के घाटमीका गांव के रहने वाले नासिर (25) और जुनैद (35) के बुरी तरह जले शव हरियाणा के भिवानी जिले के लोहारू में जले हुए वाहन जीप में मिले थे. इन दोनों का एक दिन पहले 15 फरवरी को कथित गोरक्षकों ने अपहरण कर लिया था.

राजस्थान पुलिस ने परिवार के सदस्यों की ओर दर्ज करवाई गई शिकायत पर नामजद पांच लोगों में से एक रिंकू सैनी को 17 फरवरी को गिरफ्तार किया था. बाद में पुलिस ने इन युवकों के अपहरण तथा हत्या के मामले में शामिल आठ और लोगों की पहचान कर ली है जिनकी इसमें संलिप्तता प्रमाणित हुई है.

सभी आरोपी हरियाणा के रहने वाले हैं. जुनैद का मवेशी तस्करी का आपराधिक रिकॉर्ड था और उसके खिलाफ अलग-अलग थानों में पांच मामले दर्ज थे.