सऊदी के साथ मेलजोल क्षेत्रीय शांति व स्थिरता पर डालेगा सकारात्मक प्रभाव: ईरान

0
133
Photo: IANS/Nasir Kanani
Photo: IANS/Nasir Kanani

तेहरान: ईरानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नासिर कनानी ने कहा है कि ईरान और सऊदी अरब के बीच राजनयिक संबंधों की बहाली से क्षेत्रीय शांति, स्थिरता और सुरक्षा पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने ईरान की आधिकारिक समाचार एजेंसी आईआरएनए की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए बताया कि सोमवार को संवाददाताओं से बात करते हुए नासिर कनानी ने कहा कि संबंधों को सामान्य बनाने के लिए ईरान और सऊदी अरब के बीच हुए समझौते का बहुत सकारात्मक समर्थन मिला है।

कनानी ने कहा कि समझौते का निश्चित रूप से क्षेत्रीय सहयोग को मजबूत करने पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा, ताकि क्षेत्र में शांति, स्थिरता और सुरक्षा को बढ़ावा दिया जा सके, साथ ही न केवल ईरान और सऊदी अरब के बीच बल्कि अन्य क्षेत्रीय देशों के साथ व्यापार व आर्थिक संबंधों को बढ़ावा दिया जा सके।

इस बीच, उन्होंने कहा कि ईरान और सऊदी अरब अपने राजनयिक मिशनों को फिर से खोलने के बाद राजदूतों का आदान-प्रदान करेंगे।

गौरतलब है कि चीन, सऊदी अरब और ईरान ने 10 मार्च को घोषणा की थी कि वे एक समझौते पर पहुंच गए हैं, जिसमें राजनयिक संबंधों को फिर से शुरू करने और दो महीने के भीतर दूतावासों और राजनयिक मिशनों को फिर से खोलने का समझौता शामिल है।

बीजिंग में एक बैठक में, ईरानी विदेश मंत्री होसैन अमीर-अब्दुल्लाहियान और उनके सऊदी समकक्ष प्रिंस फैसल बिन फरहान अल सऊद ने राजनयिक संबंधों को फिर से शुरू करने की घोषणा करते हुए संयुक्त बयान पर हस्ताक्षर किए।

सऊदी अरब ने ईरान में सऊदी राजनयिक मिशनों पर हमलों के विरोध में 2016 में ईरान के साथ राजनयिक संबंध तोड़ दिया था।

—आईएएनएस