वर्ष 2021-22 के दौरान 26 क्षेत्रीय दलों को 189 करोड़ रूपये चंदे के रूप में मिले: एडीआर

0
104
एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफार्म्स (एडीआर)
एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफार्म्स (एडीआर)

नयी दिल्ली: एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफार्म्स (एडीआर) ने सोमवार को बताया कि वर्ष 2021-22 के दौरान 26 क्षेत्रीय दलों को 189 करोड़ रूपये चंदे के रूप में मिले। इसमें से 85 प्रतिशत राशि पांच क्षेत्रीय दलों को मिली जिसमें जद(यू), समाजवादी पार्टी आदि शामिल हैं।

एडीआर की रिपोर्ट में कहा गया है कि अन्नाद्रमुक, बीजू जनता दल, नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी), सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ), ऑल इंडिया फारवर्ड ब्लाक (एआईएफबी), पट्टाली मक्कल काची (पीएमके), जम्मू कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस (जेकेएनसी) ने चंदे के बारे में जानकारी नहीं दी।

रिपोर्ट में वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान क्षेत्रीय दलों द्वारा चंदे के बारे में चुनाव आयोग के समक्ष पेश की गई जानकारी को रेखांकित किया गया है।

एडीआर के अनुसार, इसमें 26 क्षेत्रीय दलों द्वारा घोषित चंदे की राशि का विश्लेषण किया गया है जिसमें 20 हजार रूपये से अधिक और कम राशि शामिल है । इसमें 5,100 चंदों में 189.01 करोड़ रूपये प्राप्त हुए।

इसमें कहा गया है कि इसमें से 85.46 प्रतिशत राशि या 162.21 करोड़ रूपये पांच क्षेत्रीय दलों को प्राप्त हुए जिसमें टीआरएस, आम आदमी पार्टी, समाजवादी पार्टी, जद(यू) और वाईएसआर कांग्रेस शामिल हैं।

टीआरएस, आम आदमी पार्टी, समाजवादी पार्टी और वाईएसआर कांग्रेस ने वर्ष 2020-21 की तुलना में वर्ष 2021-22 के दौरान चंदे की राशि में वृद्धि दर्शायी जबकि जद(यू) ने कमी आने की बात कही।

एडीआर के अनुसार, टीआरएस को 14 चंदे में 40.90 करोड़ रूपये प्राप्त हुए जबकि आम आदमी पार्टी को 2,619 चंदे में 38.24 करोड़ रूपये मिले। जद(यू) को 33.26 करोड़ रूपये तथा समाजवादी पार्टी को 29.80 करोड़ रूपये और वाईएसआर कांग्रेस को 20 करोड़ रूपये मिले।

रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी, झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम), पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट (पीडीएफ) और डीएमडीक को वर्ष 2020-21 में कोई चंदा नहीं मिला जबकि वर्ष 2021-22 में इन्होंने चंदा मिलने की घोषणा की है।

(इनपुट पीटीआई-भाषा)