दिल्ली दंगों के पीछे केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की भूमिका थी: रिटायर जस्टिस मदन बी लोकुर

0
165

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के उत्तरी-पूर्वी इलाक़े में हुए सांप्रदायिक दंगों के लिए सुप्रीम कोर्ट के रिटायर जस्टिस मदन बी लोकुर ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर को ज़िम्मेदार ठहराया है.

जर्नो मिरर की खबर के अनुसार, कारवां ए मोहब्बत और कांस्टीट्यूशनल कंडक्ट ऑफ ग्रुप के एक प्रोग्राम में शिरकत करने पहुंचे जस्टिस लोकुर का कहना है कि, शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन को लेकर बीजेपी नेताओं ने जो बयानबाजी की थीं उसके बाद से चिंगारी भड़कने लगी थी तथा अनुराग ठाकुर द्वारा “देश के गद्दारों को, गोली मारों सालों को” के नारे के बाद दिल्ली सुलगनी शुरू हो गई थी. एक समुदाय विशेष के लोगों के बीच पनपी असुरक्षा की भावना दिल्ली दंगों की एक बड़ी वजह बन गई.

जस्टिस लोकुर ने पुलिस की भूमिका पर भी सवाल खड़े करते हुए कहा कि, दंगे भड़कने के बाद भी दिल्ली पुलिस सोती रही. मुझे यह हैरत में डालती है कि पुलिस को ये पता ही नहीं चल सका कि दिल्ली सुलग रही थी. पुलिस को पता होना चाहिए था कि सांप्रदायिक दंगों के लिए स्टेज तैयार कर दिया गया है. लेकिन पुलिस सोती रही.

पुलिस चाहती तो 24 घंटे के भीतर दंगों पर काबू किया जा सकता था. गृह मंत्रालय भी गहरी नींद में सोता रहा. दंगा प्रभावित इलाकों में तत्काल पुलिस फोर्स नहीं भेजी गई तथा जो फोर्स भेजी गई वो अपर्याप्त थी. जिसकी वजह से 100 से ज्यादा पुलिस के जवान भी जख्मी हुए.

दिल्ली दंगों की सच्चाई इंडिपेंडेंट इन्क्वायरी कमीशन के द्वारा ही सामने लाई जा सकती है. फरवरी 2020 में क्या हुआ, यह बात जानने के लिए पूरा देश इच्छुक है.