कर्नाटक के मुख्यमंत्री की घोषणा आज या कल संभव: सुरजेवाला

0
118
Photo: IANS
Photo: IANS

नई दिल्ली: राज्य कांग्रेस इकाई के प्रमुख डीके शिवकुमार के एक बार फिर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से मिलने के साथ कर्नाटक के अगले मुख्यमंत्री के नाम पर सस्पेंस बुधवार को भी जारी रहा। कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि विचार-विमर्श अभी भी जारी है और अगले मुख्यमंत्री पद के लिए उम्मीदवार आज या कल घोषित किया जाएगा।

कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे के आवास के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए कर्नाटक कांग्रेस के प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि वर्तमान में पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे विचार-विमर्श कर रहे हैं। पार्टी जब भी फैसला लेगी हम आपको इसकी जानकारी देंगे। अगले 72 घंटों में कर्नाटक में एक नया मंत्रिमंडल होगा।

सुरजेवाला ने मीडिया से भी अटकलबाजी या अफवाहें न फैलाने और फर्जी खबरों से दूर रहने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा द्वारा फैलाई जा रही फर्जी सूचनाओं और अफवाहों पर ध्यान न दें।

सुरजेवाला ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि मुख्यमंत्री पद पर फैसला करने में पार्टी को करीब 10-15 दिन लगते हैं, लेकिन यहां कांग्रेस अध्यक्ष नए मुख्यमंत्री का चयन करने के लिए विचार-विमर्श कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कर्नाटक में अगली कांग्रेस सरकार राज्य के लोगों को की गई पांच गारंटियों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है।

उन्होंने कहा कि मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी द्वारा किए गए वादे के मुताबिक हम पांच गारंटियों को लागू करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी यह सुनिश्चित करेगी कि राज्य में 40 फीसदी कमीशन वाली सरकार न हो।

इससे पहले बुधवार को शिवकुमार ने राहुल गांधी से एक घंटे से अधिक समय तक मुलाकात की थी। सिद्धारमैया ने भी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष से भी मुलाकात की।

रिपोर्ट के अनुसार, मंगलवार शाम को सिद्धारमैया और शिवकुमार ने कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे से अलग-अलग मुलाकात की थी। कांग्रेस अध्यक्ष ने अब तक कर्नाटक में नए मुख्यमंत्री के बारे में कोई घोषणा नहीं की है।

हालांकि, पता चला है कि कई लोग शीर्ष पद के लिए सिद्धारमैया के पक्ष में हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सोनिया गांधी और राहुल गांधी के साथ पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट पर चर्चा करने के बाद खड़गे बुधवार या गुरुवार को कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री की घोषणा कर सकते हैं।

कांग्रेस ने कर्नाटक में 135 सीटें जीतीं, जबकि भाजपा केवल 66 सीटें जीतने में सफल रही, जबकि जेडी-एस राज्य में 19 सीटों पर सिमट गई।

—आईएएनएस